आपके छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान वो भी हिंदी में

Published by Only Knowledge on

छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान (छोटे बच्चों की जनरल नॉलेज)

छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान (छोटे बच्चों की जनरल नॉलेज)– वर्तमान युग में, सामान्य ज्ञान आपके बच्चे के विकास और प्रगति के लिए महत्वपूर्ण है। आज के समय में ज्ञान लेने कई विकल्प उपलब्ध हैं। आज सभी का लक्ष्य अधिक पढ़ना और सीखना है। खासकर बच्चों के लिए स्कूल के अलावा भी सीखना विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।

एक बच्चे की प्रगति इस बात पर निर्भर करती है कि वह अपने आस-पास के वातावरण से कितना और क्या सीखता है। प्रत्येक माता-पिता अपने बच्चों को सर्वश्रेष्ठ बनाना चाहते है। वो अपनी पूरी जिंदगी और ऊर्जा इस बात में लगा देते हैं कि उनके बच्चों का भविष्य सुनहरा हो।

आप यह भी पढ़ें:-

पृथ्वी पर मनुष्य की उत्पत्ति कैसे हुई?

इसलिए हमारा दायित्व है कि हम हमारे बच्चों को अधिक से अधिक जिज्ञासु बनाएँ। उन्हें हर वो ज्ञान देने की कोशिश करें जो उनके भविष्य में उनके लिए काम आए। आपकी जागरूकता और कौशलता आपके बच्चों के जीवन पर बहुत गहरा प्रभाव डालती है।

इसलिए हम आज छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान (छोटे बच्चों की जनरल नॉलेज) का ऐसा लेख लेकर आएँ है, जो उनके लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इस आर्टिकल को पढ़कर उनके मन में ढेर सारे सवाल उत्पन्न होंगे। उनमें ऐसी जिज्ञासा उत्पन्न होगी कि वो सीखने के लिए ज्यादा उत्सुक हो जाएंगे।

तो हम सबसे पहले शुरू करते हैं हमारे आसपास के माहौल से।

छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान (छोटे बच्चों की जनरल नॉलेज)

घर और परिवार क्या है?

घर एक ऐसी जगह है जहां हमारे माता-पिता, दादा-दादी, चाचा-चाची, भाई-बहिन रहते हैं। इन सभी सदस्यों के समूह को परिवार कहा जाता है। हमारी पहचान हमारे परिवार, हमारे माँ-बाप, दादा-दादी से होती है। इसलिए हमें हमेशा हमारे परिवार से जुड़ा रहना चाहिए। परिवार के किसी भी सदस्य की बात को कभी नहीं मोड़ना चाहिए।

विद्यालय क्या है?

विद्यालय एक ऐसा स्थान है जहां हमें पढ़ाया और सिखाया जाता है। ज़िंदगी का छोटे से छोटा पहलू हमें यहीं सीखने को मिलता है। हमारा विद्यालय हमारे लिए उतना ही जरूरी है, जितना कि हमारे लिए हमारा परिवार। नियमित विद्यालय जाने वाले बच्चे हमेशा कुछ न कुछ नया सीखते हैं। विद्यालय में हमारे नए दोस्त बनते हैं, जो हमारा हमेशा साथ निभाते है।

अध्यापक हमारे लिए क्यों जरूरी है?

अध्यापक यानी की हमारा टीचर हमारे लिए बहुत जरूरी है। अध्यापक हमें विद्यालय में पढ़ाता और सिखाता है। बिना अध्यापक के हम कभी भी कुछ सीख नहीं सकते। जैसे बचपन में हमारे माता-पिता हमें चलना सिखाते हैं वैसे ही अध्यापक हमें जिंदगी जीना सिखाते है।

गुरु अध्यापक का ही एक रूप होता है। लेकिन गुरु जीवन में हमेशा एक रहता है। इंसान के जीवन में गुरु वो सीढ़ी है, जो उसे उसकी मंजिल तक पहुंचाती है। बिना गुरु के इंसान का जीवन हमेशा अधूरा रहता है। इसलिए हमें हमारे गुरु के प्रत्येक आदेश का पालन करना चाहिए।

आपके गुरु कोई भी हो सकते हैं। आपके पिता, माता, दादा, दादी, चाचा, चाची, गणित का अध्यापक, विज्ञान का अध्यापक कोई भी हो सकता है। बस आपको अपने सर्वश्रेष्ठ गुरु का चयन करना चाहिए। हमारी नजर में इंसान का सबसे अच्छा गुरु उसकी माँ होती है।

हमारा देश कौनसा है?

छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान (छोटे बच्चों की जनरल नॉलेज)– हमारा देश भारत है। हम भारत के निवासी है, इसलिए हम भारतीय हैं। भारत दुनिया के एकमात्र ऐसा देश है जो हमेशा शांति के मार्ग पर चलता है। दुनिया में अगर कोई सबसे अच्छी जगह हैं तो वह भारत है। भारत को हिंदुस्तान, आर्यावर्त और इंडिया भी कहते हैं।

भारत के बारे में

भारत में कुल 28 राज्य और 8 केंद्रशासित प्रदेश है। जगह के हिसाब से हमारे भारत का सबसे बड़ा राज्य राजस्थान है। वहीं सबसे ज्यादा लोग उत्तरप्रदेश राज्य में निवास करते हैं। भारत के सबसे उत्तर में जम्मू कश्मीर और दक्षिण में केरल राज्य है। भारत का पश्चिमी राज्य गुजरात और पूर्वी राज्य अरुणाचल प्रदेश है। इसके अलावा भारत की राजधानी नई दिल्ली और आर्थिक राजधानी मुंबई है।

दुनिया की सबसे पुरानी संस्कृति भारत की है। यहाँ के रीति-रिवाज पूरी दुनिया से अलग है। भारत अपनी विविधता में एकता के लिए जाना जाता है। यहाँ आपको हर प्रकार, हर संस्कृति, हर धर्म के लोग मिल जाएंगे। लेकिन इनकी एकता पूरे विश्व को एक सुनहरा संदेश देती है।

भारत का क्षेत्रफल लगभग 32.8 लाख वर्ग किलोमीटर है। यह दुनिया का सातवाँ सबसे बड़ा देश है। हिंदुस्तान में दुनिया की सबसे पवित्र नदी गंगा बहती है। भारत के उत्तर में हिमालय पर्वत है, जिसका अपना एक धार्मिक महत्व है। दुनिया की सबसे ऊंची जगह माउंट एवरेस्ट इसी पर्वत शृंखला में स्थित है।

भारत के उत्तर-पश्चिम में थार का रेगिस्तान स्थित है। यह दुनिया का सबसे बड़ा जैव-विविधता वाला रेगिस्तान है। यह भारत के राजस्थान जिले के पश्चिम में है। राजस्थान का इतिहास, विश्व के इतिहास में सबसे गौरवशाली है। यहाँ की मिट्टी त्याग और बलिदान की एक ऐसी मिशाल पेश करती है, जो इसके इतिहास को सुनहरे अक्षरों में लिखती है।

भारत में सबसे ज्यादा हिंदू धर्म के लोग निवास करते हैं। यह दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला देश है। भारत की जनसंख्या लगभग 135 करोड़ है। यहाँ की साक्षरता दर 74.04% है, यानी हर 100 व्यक्तियों में 74 व्यक्ति पढे लिखे हैं।

भारत के राष्ट्रिय प्रतीक (छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान)

राष्ट्रीय ध्वज

हिंदुस्तान का राष्ट्रीय ध्वज ‘तिरंगा’ है। जो तीन रंगों से मिलकर बना है, इसमें सबसे ऊपर केसरिया, बीच में सफ़ेद और सबसे नीचे हरा रंग है। ध्वज के बीच में एक नीले रंग का चक्र है, जिसमें 24 तीलियाँ है। तिरंगा देश के आन-बान और शान है। इसका प्रत्येक रंग विश्व को एक गहरा संदेश देता है।

राष्ट्रीय पक्षी

हमारा राष्ट्रीय पक्षी ‘मोर’ है। दुनिया के सबसे सुंदर पक्षियों में मोर की गिनती की जाती है। सीने का नीला रंग इसे मनमोहक बनाता है। कांस्य और हरे रंग के लगभग 200 पंखों का गुच्छा इसे ओर भी ज्यादा सुंदर बनाता है।

राष्ट्रीय पशु

बाघ भारत का राष्ट्रीय पशु है। भारतीय ‘बाघ’ पूरी दुनिया में पाए जाने वाले बाघों में सबसे सुंदर और खतरनाक शिकारी है। यह अपनी ताकत, फूर्ती और बुद्धिमानी से बड़े से बड़े शिकार को पल भर में ढेर कर देता है। ‘शाही बंगाल टाइगर’ का दुनिया में अपना एक अलग ही वजूद है।

राष्ट्रीय पूष्प

हिंदुस्तान का राष्ट्रिय पूष्प ‘कमल’ है। कमल का अपना धार्मिक महत्व भी है, हिन्दू धर्म में कमल सरस्वती माता का प्रिय पूष्प है। यह एक पवित्र पूष्प है, हिंदू लोग प्रत्येक मांगलिक कार्य में इसका उपयोग करते हैं।

राष्ट्रीय पेड़

भारत का राष्ट्रीय पेड़ ‘बरगद’ है। बरगद का जीवनकाल बहुत लंबा होता है। इसकी लंबी-लंबी जड़ें धरती में दूर-दूर तक फैली रहती है। गाँव में आज भी लोग बरगद के नीचे बैठक लगाती है। सभी वहाँ आपसी प्रेम और भाईचारे की बातें करते हैं।

राजकीय प्रतीक

भारत का राजचिन्ह ‘अशोक स्तम्भ’ है, जो सारनाथ के संग्रहालय में रखा हुआ है। इसके नीचे ‘सत्यमेव जयते’ लिखा हुआ है। जिसका अर्थ है “सत्य की हमेशा विजय होती है।” इसलिए हमें हमेशा सत्य बोलना चाहिए। सत्य के मार्ग पर चलाने वाले इन्सानों की गिनती महान लोगों में होती है।

राष्ट्रीय गान

जब हम स्कूल में होते हैं, तो सबसे पहले प्रार्थना होती है। उस प्रार्थना में एक गान ‘जण-गण-मन अधिनायक जय हे’ गाया जाता है। यही हमारे देश का राष्ट्रीय गान है। इसे रविन्द्रनाथ टैगोर जी ने लिखा था। जब भी आपको यह गान सुनाई दे तो हमेशा सावधान खड़ा होकर इसका सम्मान करना चाहिए।

राष्ट्रीय गीत

हिंदुस्तान का राष्ट्रीय गीत ‘वंदे मातरम’ है। इसे बंकिम चंद्र चटर्जी ने संस्कृत भाषा में लिखा था। आजादी से पहले यह स्वतंत्रता सेनानियों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत था।

भारत के इतिहास से संबधित छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान

(छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान)- भारत का इतिहास काफी गौरवशाली है। मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम का जन्म इसी धरती पर हुआ था। धर्म की लड़ाई ‘महाभारत’ इसी भूमि पर लड़ी गई। पुराने समय में भारत में एक से बढ़कर एक महान योद्धा हुए थे, जिन्होने अपने पराक्रम और बल से हमेशा शत्रुओं से भारत देश की रक्षा की।

हिंदुस्तान का भारत नाम महाभारत काल के राजा ‘भरत’ के नाम पर रखा गया। इस समय में भारत के उत्तरी क्षेत्र में आर्यों का शासन हुआ करता था, इसलिए इसे ‘आर्यावर्त’ की उपाधि दी गई। हिंदुस्तान नाम सबसे पहले अंग्रेजों ने दिया था, क्योंकि उस समय यहाँ सबसे ज्यादा हिन्दू निवास करते थे।

सिंधु घाटी सभ्यता विश्व की सबसे पुरानी सभ्यताओं में गिनी जाती है। यह बहुत उन्नत सभ्यता थी क्योंकि इस सभ्यता के लोग खेती और पशुपालन करते थे। यह सभ्यता आज से 5000 वर्ष पहले अपनी चरम सीमा पर थी। खुदाई से पता चलता है कि यह सभ्यता भारत, पाकिस्तान से लेकर अफगानिस्तान तक फैली हुई थी।

बौद्ध धर्म गुरु ‘महात्मा बुद्ध’ का जन्म भारत की पावन धरती पर हुआ था। इनके जीवन समय को बौद्ध युग कहा जाता है, जो आज से 2600 वर्ष पहले अस्तित्व में था। पूरी दुनिया जीतने के इरादे से निकले सिकंदर ने 326 ईसा पूर्व भारत पर आक्रमण किया।

भारत एक खुशहाल और सम्पन्न देश हुआ करता था। पुराने समय में हिंदुस्तान को सोने का चिड़िया कहा जाता था। लेकिन इस खुशहाली ने विदेशियों को अपनी ओर आकर्षित किया। इसके बाद भारत पर आक्रमण पर आक्रमण हुए, जिसने पूरे हिंदुस्तान को हिला दिया।

700 ईस्वी के बाद धीरे-धीरे दक्षिण एशिया में इस्लाम अपने पैर जमाने लगा। जिसमें मुहम्मद बिन कासिन का सबसे बड़ा हाथ है। जिसके बाद लगातार इस्लामी आक्रमणकारी हुए। महमूद गजनवी ने भारतीय मंदिरों को निशाना बनाया और मंदिरों की संपत्ति को लूटकर अपने देश ले गया।

आज से 500 वर्ष पहले भारत में सामाजिक एवं धार्मिक सुधारों का एक महत्वपूर्ण पड़ाव था। इस समय के दौरान लोगों में धर्म के प्रति अत्यधिक जागरूकता उजागर हुई। इन सुधारों के मुख्य नेता शंकराचार्य जी थे, जो अपने समय में एक महान विचारक और दार्शनिक रहे।

इसके बाद हिंदुस्तान में अंग्रेजों का आगमन होता है। सबसे पहले ईस्ट इंडिया कंपनी ने धीरे-धीरे अपने पैर जमाएँ। ईस्ट इंडिया कंपनी आने के 200 वर्ष बाद लोगों को अंग्रेजों की मानसिकता पर शक होने लगा। अंग्रेज़ भारतियों में फूट डालो और राज करो की रणनीति से काम करने लगे।

जिसके परिणामस्वरूप 1857 की क्रांति का उदय हुआ, जिसे भारत का पहला स्वतंत्रता संग्राम कहा जाता है। इस क्रांति ने अंग्रेजों को जड़ से हिला दिया। जिसमें ‘झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई’ ने अपने साहस और पराक्रम से अंग्रेजों को गहरी चुनौती दी।

लेकिन यह आंदोलन सफल नहीं हो सका, क्योंकि अपने ही देश के कुछ राजा अंग्रेजों के पक्ष में थे। इस क्रांति के परिणामस्वरूप ईस्ट इंडिया कंपनी का भारत में अंत हो गया। 1857 की क्रांति के 90 साल बाद 15 अगस्त, 1947 को भारत आजाद हुआ। लेकिन इसे दो भागों में बाँट दिया गया, पहला भारत और दूसरा पाकिस्तान।

विज्ञान से संबधित छोटे बच्चों की जनरल नॉलेज

पर्यावरण क्या है?

पर्यावरण दो शब्दों ‘परि’ और ‘आवरण’ से मिलकर बना है। जिसमें परि का अर्थ ‘चारों ओर’ व आवरण का अर्थ है ‘चारों ओर से घेरे हुए।’ इस प्रकार पर्यावरण का अर्थ होता है, हमारे चारों ओर मौजूद प्रत्येक वस्तु।

यानी हमारे चारों ओर मौजूद सब कुछ पर्यावरण है। हवा, मिट्टी, पानी, पौधे और जानवर सहित हमारे सभी परिवेश पर्यावरण का निर्माण करते हैं। इस पृथ्वी पर पौधों और जानवरों को जीवित रहने के लिए एक स्वस्थ वातावरण या पर्यावरण की आवश्यकता होती है।

हमारी पृथ्वी (हमारी धरती)

हमारी पृथ्वी ज्ञात ब्रह्मांड में एकमात्र ऐसा ग्रह हैं, जिस पर जीवन पाया जाता है। धरती पर बड़े-बड़े महासागर और महाद्वीप पाए जाते हैं। आपको इन महासागरों में विशालकाय जीव देखने को मिलेंगे, जो बहुत ही खतरनाक है। इनमें शार्क सबसे प्रमुख है।

पृथ्वी पर कुल पाँच महासागर पाए जाते हैं। जिनके नाम आर्कटिक महासागर, प्रशांत महासागर, अटलांटिक महासागर, हिन्द महासागर (भारत को तीनों ओर से घेरता है) और दक्षिण महासागर है। इनमें प्रशांत महासागर सबसे बड़ा ओर रहस्यमयी महासागर है।

पृथ्वी पर अनेक प्रकार के जीव, वनस्पति, पर्वत, जंगल, नदियां, पठार, रेगिस्तान, बर्फीले क्षेत्र पाए जाते हैं। जिनमें जिंदगी जीना सबसे कठिन है। सहारा रेगिस्तान दुनिया का सबसे बड़ा रेगिस्तान है, जिसमें जीवन न के बराबर पाया जाता है।

पृथ्वी से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य (छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान)

  • पृथ्वी की सतह का लगभग 70% भाग जल से ढका हुआ है।
  • पृथ्वी का जन्म आज से 4.5 अरब वर्ष पहले हुआ था, दिलचस्प बात यह है कि इंसानों के जन्म को अभी महज 2 लाख वर्ष हुए हैं।
  • पृथ्वी सूर्य से तीसरा ग्रह है, व बृहस्पति, शनि, यूरेनस और नेपच्यून के बाद हमारे सौर मंडल का पांचवा सबसे बड़ा ग्रह है।
  • पृथ्वी का सबसे बड़ा और एकमात्र प्राकृतिक उपग्रह चंद्रमा है!
  • पृथ्वी का वायुमंडल सूर्य से आने वाली पैराबैंगनी किरणों से जीवों की रक्षा करता है। इसके वायुमंडल में नाइट्रोजन और ऑक्सिजन की प्रचूरता पाई जाती है।
  • धरती का गुरुत्वाकर्षण बल सभी वस्तुओं को धरती की सतह से बांधे रखता है।

ब्रह्मांड से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य-

  • हमारा सूर्य पृथ्वी से 3 लाख गुना बड़ा है, जिसका अर्थ है कि सूर्य में 10 लाख पृथ्वी समाहित हो सकती है।
  • अंतरिक्ष पूरी तरह से शांत है, यहाँ आपको कुछ भी सुनाई नहीं देगा। क्योंकि अंतरिक्ष में ध्वनि तरंगो को गति करने के लिए कोई माध्यम नहीं मिल पाता है।
  • बृहस्पति, नेपच्यून, शनि या यूरेनस जैसे ग्रहों पर चलना संभव नहीं है। क्योंकि यह गैसों से बने ग्रह हैं, जिनके पास कोई ठोस सतह नहीं है।
  • चंद्रमा कभी भी प्रकाश उत्पन्न नहीं करता, यह सूरज के प्रकाश से चमकता है। इसके अलावा चाँद पर कोई हवा नहीं है, इस कारण चाँद की सतह पर पड़ने वाला निशान सदियों तक गायब नहीं होता है।
  • पृथ्वी पर जीतने रेत के कण है, उससे ज्यादा ब्रह्मांड में तारे मौजूद है।
  • सूर्य से प्रकाश को धरती तक पहुँचने में लगभग 8 मिनट का समय लगता है।

हमारे शरीर से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य-

  • एक बार जब आप खाना खा लेते हैं, तो आपके शरीर को इसे पूरी तरह से पचाने में लगभग 12 घंटे लगते हैं।
  • आपके मस्तिष्क में लगभग 100 अरब तंत्रिका कोशिकाएँ होती हैं।
  • आपका दिल दिन में लगभग 1,00,000 (1 लाख) बार धड़कता है।
  • मानव शरीर की सबसे छोटी हड्डी कान के मध्य भाग में मौजूद होती है। इसे रकाब कहा जाता है और यह केवल 2.8 मिमी (मिलीमीटर) लंबी है।
  • आपका मुंह प्रतिदिन लगभग 1 लीटर लार पैदा करता है!
  • इंसान के दांत शार्क के दांत जितने मजबूत होते हैं!
  • वैज्ञानिकों के अनुसार, मानव नाक तीन ट्रिलियन अलग-अलग गंधों का पता लगा और पहचान सकती है!
  • एक पूर्ण विकसित वयस्क के शरीर में 206 हड्डियाँ होती हैं, जबकि एक नवजात शिशु में 300 हड्डियाँ होती हैं। इनमें से कुछ हड्डियां बच्चे के बड़े होने पर आपस में जुड़ जाती हैं।
  • यदि एक वयस्क के शरीर में सभी रक्त वाहिकाओं को जोड़कर सीधी रेखा में रखा जाता है, तो ये पृथ्वी के चार बार चक्कर लगा लेगी!
  • यदि मानव शरीर के सभी डीएनए को खोलकर एक साथ रखा जाए, तो यह हमारे पूरे सौर मंडल के व्यास का लगभग दोगुना होगा।
  • यदि आपके मुँह में लार पैदा नहीं होती है तो आप भोजन का स्वाद नहीं ले पाएंगे। क्योंकि हमारी स्वाद कलिकाएँ भोजन के स्वाद का तभी पता लगा सकती हैं जब वह तरल में घुलती है।

यह लेख छोटे बच्चों की जनरल नॉलेज को बढ़ाने में बहुत सहायता करेगा। अगर आप अपने बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान का स्तर बढ़ाना चाहते हैं, तो आपको अपने बच्चों को इस तरह से ही तैयार करना होगा। जिसमें हमारा यह ब्लॉग आपकी काफी मदद कर सकता हैं।

छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान क्यों जरूरी है?

छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञान बहुत जरूरी है। क्योंकि आज का युग शिक्षा और ज्ञान का युग है। इसलिए बच्चों के पूर्ण विकास के लिए उन्हें Basic Knowledge होना जरूरी है।

हमारे धरती पर कितने महासागर और महाद्वीप मौजूद है?

हमारे धरती पर कितने 5 महासागर और 7 महाद्वीप मौजूद है? जिनमें प्रशांत महासागर सबसे बड़ा और एशिया महाद्वीप सबसे बड़ा महाद्वीप है।

भारत की राजधानी कौनसी है?

भारत की राजधानी नई दिल्ली है। यह भारत के मध्य में स्थित एक बहुत ही सुंदर शहर है।

छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञानआपको कैसा लगा? हमें Comment कर बताएं। अगर छोटे बच्चों के लिए सामान्य ज्ञानलेख में कोई कमी है, तो वो भी हमें बताएं। आपके सुझाव हमारे लिए जरूरी है।


Only Knowledge

The Knowledge Darshan ब्लॉग आप सभी की मदद के लिए बनाया गया है। इस ब्लॉग पर आपको हम नई से नई जानकारी देने का प्रयास करते है जो आपको और जगह दूसरी भाषा में मिलती है। हमारी पूरी टीम हर एक आर्टिक्ल के लिए कड़ी मेहनत करती है। पूरी रिसर्च और आंकड़ों के साथ हम किसी भी जानकारी को आप तक पहुंचाते है। अब हमें आपके प्यार और आशीर्वाद की आवश्यकता है ताकि हम अपना काम पूरे जोश और मेहनत से कर सकें। हमारे साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *