क्या सच में इतनी डरावनी है दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म?

Published by Only Knowledge on

दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म?

दोस्तों क्या आपको हॉरर फिल्में देखने का शौक है? क्या आपको रोंगटे खड़े कर देने वाले सीन देखने में मजा आता है? तो आज हम आपकी यह ख़्वाहिश पूरी करने वाले है। आज हम जिस फिल्म या मूवी की बात कर रहे है वो बहुत ही डरावनी और खतरनाक है। जिसे लोग दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म कहते है।

आप यह भी पढ़ें:-

दुनिया का पहला टेलीस्कोप जिसने हमें हमारी उत्त्पती के बारे में बताया

इस फिल्म के बारे में कहा जाता है की “कमजोर दिल वाले इस फिल्म को देखने की कोशिश न करें।” क्योंकि यह दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म मानी जाती है। इस फिल्म को देखते समय आपकी ऐसी हालत हो जाएगी कि अगर आपको रात को बाथरूम आया, तो आप में अपने बिस्तर से उठने की हिम्मत नहीं होगी।

कुछ फिल्में ऐसी होती है जो सिर्फ डराने के लिए बनी होती है। फिल्म बनाने वाले सिर्फ दर्शकों को डराने के लिए कहानी लिखते है और उसे इसी प्रकार तैयार करते है। लेकिन यह फिल्म एक सच्ची कहानी पर आधारित है जो इसे और भी डरावनी बनाती है।

आखिर क्यों है यह दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म?

आइए हम आपको बताते है की आखिर वो फिल्म कौनसी है जो इतनी डरावनी है। आखिर क्यों उसे दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म कहा जाता है? इस फिल्म को देखकर शायद आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे।

फिल्म के अंत तक आते-आते आपकी धड़कन तेज हो जाएगी। हो सकता है आप डर के मारे इस फिल्म को बीच में ही बंद कर दे। मेरा दिल कहता है कि आप इस डरावनी फिल्म को कभी नहीं भूल पाओगे। अगर आप इसे रात में अकेले देखते हो तो इसका अनुभव कुछ ओर ही रहने वाला है।

फिल्म का नाम

तो इस फिल्म का नाम है “The Exorcist”, जो एक अमेरिकन हॉरर मूवी है। जिसे साल 1973 में रिलीज किया गया था। इस फिल्म को  William Friedkin के द्वारा निर्देशित किया गया, जिसमें मुख्य रोल में  Ellen Burstyn, Max von Sydow, Lee J. Cobb, Kitty Winn, Jack MacGowran, Jason Miller और Linda Blair है।

12 मिलियन डॉलर (90,04,89,000 रुपए) में बनी इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर 441.3 मिलियन डॉलर (33,09,29,70,750 रुपए) की कमाई की। यह 121 मिनट लंबी एक ऐसी हॉरर फिल्म है, जिसने बहुत सारे रिकॉर्ड अपने नाम किए।

IMDb ने इस फिल्म को 10 में से 8 अंक दिए। जिससे पता चलता है कि यह फिल्म दर्शकों को काफी रास आई थी। आज भी इस फिल्म के दृश्य लोगों को विचलित कर देते हैं।

फिल्म की कहानी क्या है?

फिल्म एक ऐसी 12 साल की लड़की की कहानी पर केन्द्रित है जिसमें एक खतरनाक प्राचीन शैतान समाहित हो जाता है। उस प्राचीन शैतान का नाम Pazuzu होता है। Pazuzu बहुत ही खतरनाक और डरावना शैतान होता है जिससे प्राचीन समय के लोग बहुत डरते थे।

फिल्म की शुरुआत में इराक के एक प्राचीन शहर हातरा को दिखाया जाता है। जहां पुरातत्व सर्वेक्षण की टीम खुदाई कर रही थी। उसी जगन एक पादरी Lankester Merrin भी मौजूद होते है। खुदाई के दौरान उन्हें वहाँ एक ताबीज मिलता है। जो उस प्राचीन शैतान Pazuzu का होता है।

बस कहानी की शुरुआत यहीं से होती है। फिल्म में एक 12 साल की लड़की जिसका नाम रेगन होता है, वो एक Ouija Board (भूत बुलाने वाला बोर्ड) के साथ खेलती है। जब रेगन की माँ Chris MacNeil अपनी बेटी को उस बोर्ड के साथ देखती है तो वो उससे इसके बारे में पूछती है।

रेगन अपनी माँ से कहती है की वो अक्सर उस बोर्ड के साथ खेलती है। तो उसकी माँ ने कहा की यह अकेले खेलने की चीज नहीं है। चलो इसे मेरे सामने खेलो, तभी रेगन उस बोर्ड के साथ खेलना शुरू करती है तो वो बोर्ड वहाँ से हट जाता है। जिसे देखकर वो काफी चकित होते है। लेकिन Chris इस बात को ज़्यादा गंभीरता से नहीं लेती है।

फिर हम देखते है की रात को जब Chris सो रही होती है तो उसे एक फोन आता है। फोन आने के बाद Chris अपनी नींद से जाग जाती है। फोन कटने के बाद Chris देखती है की रेगन उसके बेड पर सो रही होती है। वो रेगन से पूछती है की क्या हुआ? तो रेगन ने जवाब दिया की जब वो अपने पलंग पर सो रही थी तो उसका पलंग अपने आप हिल रहा था। लेकिन फिर भी Chris इस बात को ज़्यादा महत्व नहीं देती है।

अगले ही दिन वो रेगन को एक डॉक्टर के पास ले जाती है जहां उसकी शुरुआती जांच की जाती है। लेकिन वो बिलकुल सामान्य होती है। लेकिन इसी दौरान वो डॉक्टर के साथ अजीबों-गरीब व्यवहार करती है और उन्हें अपशब्द कहती है।

धीरे-धीरे रेगन पर वो शैतान हावी होने लगता है। इसके साथ ही फिल्म में डरावने दृश्यों की शुरुआत हो जाती है। जैसे रेगन के पलंग का ज़ोर से हिलना, घर में आए मेहमानों को डराना, रेगन को पलंग से उठा-उठाकर पटकना, उसका सीढ़ियों पर उल्टा चलना और खून की उल्टी करना।

इसके बाद इस फिल्म में एक से बढ़कर एक डरावने दृश्य आते है जो किसी को भी विचलित कर सकते है। तो आगे की कहानी के लिए आप इस फिल्म को जरूर देखिए। फिल्म देखने के बाद जो भी आपका अनुभव है वो आप हमारे साथ जरूर Share कीजिए।

और हमें बताइए की आपको यह फिल्म कैसी लगी? क्या वाकई यह दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म है। अगर है तो आखिर क्यों है? आइए अब जानते है इस फिल्म से जुड़े कुछ डरावने तथ्य।

फिल्म से जुड़े कुछ अजीब तथ्य

यह फिल्म असल में जितनी पर्दे पर डरावनी है उससे ज़्यादा यह रियल में भी डरावनी है। दरअसल यह फिल्म 1971 की एक नॉवेल पर आधारित है। जिसमें एक 14 साल के लड़के के बारे में बताया गया है। जिस पर एक शैतान हावी हो जाता है। इस नॉवल का नाम भी The Exorcist ही था।

दरअसल वो लड़का Ouija Board के माध्यम से भूत-प्रेतों से बात करता था। धीरे-धीरे उस लड़के के साथ शैतानी घटनाएँ घटित होने लगी और वो लड़का पूरी तरह से शैतानी शक्तियों की गिरफ्त में आ गया। जिस पर काफी Exorcism (भूत भगाने के लिए तंत्र-मंत्र करना) किया जाता है। हालांकि फिल्म में एक 12 साल की लड़की को दिखाया गया है।

इस फिल्म को एक शापित फिल्म भी माना जाता है। क्योंकि फिल्म के दौरान कुछ ऐसी घटनाएँ होती है जो बहुत ही अजीब और डरावनी होती है। इन घटनाओं के बाद सभी इस फिल्म को एक शापित फिल्म मानने लगे। आइए देखते है वो कौनसी घटनाएँ है जिसके बाद लोग इसे शापित फिल्म मानने लगे।

जैसे फिल्म सेट पर आग लग जाना। इस आग के कारण पूरा सेट जलकर राख़ हो गया, लेकिन रेगन का कमरा वैसे का वैसे था। इसी सेट पर ज़्यादातर फिल्म की Shooting होनी थी। इसके बाद फिल्म में रेगन की माँ Chris का घायल हो जाना।

लेकिन सबसे डरावनी बात तो यह की फिल्म बनने के दौरान 9 लोगों की रहस्यमई तरीके से मौत हो जाती है जो इस फिल्म में काम कर रहे थे। उनमें से 2 एक्टर Asiliki Maliaros और Jack MacGowran भी थे। फिल्म में भी इनकी मौत हो जाती है।

इसके बाद फ़िल्म निर्माताओं और उसमें काम करने वालों को जान से मारने की धमकियाँ मिलने लगी। इसके साथ ही रेगन का फ़िल्म के दौरान मानसिक रूप से कमजोर होना और फ़िल्म के दौरान उसे घबराहट होना।

इस फिल्म को इराक में शूट किया गया था। इराकी सरकार इस फिल्म के लिए तीन शर्तों पर सहमत हुई: (1) Friedkin एंड कंपनी को स्थानीय इराकियों को फिल्म तकनीकों में प्रशिक्षित करना था, (2) उन्हें स्थानीय इराकियों को खूनी फिल्में बनाना सिखाना (3) Friedkin को उनकी ऑस्कर विजेता फिल्म द फ्रेंच कनेक्शन का एक प्रिंट दान करना।

जनवरी 2004 में, टेलीग्राफ ने बताया कि उत्तरी इराक में मोसुल के पास अमेरिकी सेना (जहां इस फिल्म का निर्माण हुआ था) ने स्थानीय अर्थव्यवस्था की मदद करने के लिए Exorcist Tour शुरू करने की तैयारी की। लेकिन इस इस योजना को अल कायदा के उग्रवादियों ने इस क्षेत्र में बाढ़ लाकर विफल कर दिया

इसके अलावा और भी ऐसी घटनाएँ थी जो फ़िल्म निर्माण के दौरान फ़िल्म निर्माताओं और उसमें काम करने वाले लोगों के साथ घटित हुई। कुछ इन्हीं कारणों के कारण इसे दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म कहा जाने लगा।

हालांकि तमाम मुश्किलों के बावजूद इस फ़िल्म को रिलीज किया गया, जिसने पर्दे पर धमाल मचाया था। कमाई के मामले में इस फ़िल्म ने कई कीर्तिमान बनाए जो अगले कई सालों तक टॉप पर रहे।

सोर्स-विकिपीडिया

दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म का नाम क्या है?

दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म का नाम ‘The Exorcist’ है। इसे 26 दिसम्बर, 1973 को बड़े पर्दे पर लॉंच किया गया था।

दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म किस पर आधारित है?

दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म 1971 में प्रकाशित हुई एक नॉवेल पर आधारित है। जिसमें एक 14 साल के लड़के के बारे में बताया गया है। इस लड़के पर पर एक शैतान हावी हो जाता है। इस नॉवल का नाम भी ‘The Exorcist‘ ही था।

इस फिल्म के निर्माण के दौरान क्या अजीब हुआ था?

दुनिया की सबसे डरावनी फिल्म निर्माण के दौरान 9 लोगों की रहस्यमई तरीके से मौत हो जाती है जो इस फिल्म में काम कर रहे थे। उनमें से 2 एक्टर Asiliki Maliaros और Jack MacGowran भी थे। फिल्म में भी इनकी मौत हो जाती है।


Only Knowledge

The Knowledge Darshan ब्लॉग आप सभी की मदद के लिए बनाया गया है। इस ब्लॉग पर आपको हम नई से नई जानकारी देने का प्रयास करते है जो आपको और जगह दूसरी भाषा में मिलती है। हमारी पूरी टीम हर एक आर्टिक्ल के लिए कड़ी मेहनत करती है। पूरी रिसर्च और आंकड़ों के साथ हम किसी भी जानकारी को आप तक पहुंचाते है। अब हमें आपके प्यार और आशीर्वाद की आवश्यकता है ताकि हम अपना काम पूरे जोश और मेहनत से कर सकें। हमारे साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *