गहन खेती (कृषि) क्या है ॥ Gahan Kheti Kya Hai?

Published by Only Knowledge on

गहन खेती क्या है (Gahan Kheti Kya Hai)?

गहन खेती क्या है (Gahan Kheti Kya Hai)?-क्या आपने कभी सोचा है, जो आप रोजाना खाना खाते हो, वो कहाँ से आता है? आखिर यह भोजन किस सामग्री से बनाया जाता है और इस सामग्री को बनाने वाले कौन है? तो आपके सवाल का जवाब है, यह सब खेतों से आता है, जिसे किसान उगाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि आपके पेट का भरण-पोषण करने वाले उस किसान को पर्याप्त मात्रा में पैसे मिलते हैं।

कृषि यकीनन सबसे महत्वपूर्ण गतिविधियों में से एक है जिसे हम एक समाज के रूप में करते हैं। फिर भी यह अपने वर्तमान स्वरूप में सबसे विनाशकारी आपदाओं में से एक है। World Resources Institute द्वारा यह रिपोर्ट पेश की गई थी कि 2019 में सभी ग्रीनहाउस गैसों के उत्सर्जन का 13% कृषि से था।

लेकिन किसान दो धारी तलवार पर बैठा है, जिसमें एक तरफ दुनिया और खुद के पेट की चिंता है और दूसरी पर्यावरण की। किसान एक चट्टान और एक कठिन जगह के बीच फंस गए हैं। उन्हें अपने आसपास के पारिस्थितिकी तंत्र पर पड़ने वाले पर्यावरणीय प्रभाव के खिलाफ अपने खेत की उत्पादकता और लाभप्रदता को संतुलित करने की आवश्यकता है।

गहन खेती कृषि का एक तरीका हैं जो इस बात का उदाहरण देता है। कि जब उत्पादकता/लाभप्रदता बनाम पर्यावरणवाद के स्पेक्ट्रम के साथ विभिन्न बिंदुओं पर ध्यान केंद्रित किया जाता है तो खाद्य उत्पादन कैसा दिखता है।

बढ़ती जनसंख्या और घटती कृषि योग्य भूमि के कारण आज इंसान के सामने बहुत बड़ी समस्या पैदा हो गई है। वक्त के साथ सभी के लिए भोजन की व्यवस्था करना आज एक चुनौती बन चुका है। इतनी बड़ी आबादी के लिए अच्छे और पोषक खाद्य पदार्थों की व्यवस्था करना मुश्किल होता जा रहा है।

खासकर उस समय यह समस्या और भी ज्यादा बड़ी हो जाती है, तब कृषि करने योग्य भूमि में लगातार कमी हो रही हो। लेकिन गहन खेती या कृषि इस समस्या का एक समाधान बनकर उभर रहा है। आज के इस लेख में हम गहन खेती क्या है (Gahan kheti kya hai) के बारे में विस्तार से पढ़ेंगे।

गन्ने की खेती करने का उत्तम तरीका

मशरूम की खेती कैसे होती है?

जिन किसान भाइयों के पास जमीन की कमी है, और वे बड़ी मात्रा में फसल उत्पादन करना चाहते हैं। तो गहन खेती उनके लिए सबसे बड़ा विकल्प बन सकता है। वर्तमान में विदेशों में गहन खेती सबसे ज्यादा की जाती है, जिसका सबसे बड़ा उदाहरण जापान है। जापान में कृषि योग्य भूमि बहुत कम है, इस कारण वहाँ के किसान गहन खेती की मदद से ज्यादा फसल उत्पादन करते हैं।

गहन खेती क्या है (Gahan kheti kya hai)?

गहन खेती खाद्य उत्पादन की एक विधि को संदर्भित करती है जो कृषि पद्धतियों के गहनीकरण और मशीनीकरण पर निर्भर है। गहन खेती का उद्देश्य भूमि के एक टुकड़े की उत्पादकता और लाभप्रदता में वृद्धि करना है। यानी कम ज़मीन पर मशीनों और आधुनिक तकनीकों के उपयोग से अधिक उत्पादन करना।

आमतौर पर जमीन से यह उच्च उत्पादकता विभिन्न कारकों के उच्च-स्तरीय इनपुट द्वारा प्राप्त की जाती है। जो पैदावार में मदद करते हैं, जैसे कि पूंजी, श्रम, उर्वरक, कीटनाशक, insecticides, pesticides, शाकनाशी आदि। गहन खेती में आनुवंशिक रूप से संशोधित फसलों का उपयोग भी शामिल किया जा सकता है जो अधिक मात्रा में इन रासायनिक पदार्थों के इस्तेमाल से होता है।

इस तरह की गहन खेती का एक अच्छा उदाहरण मोनसेंटो के शाकनाशी राउंडअप और इसके आनुवंशिक रूप से संशोधित सोयाबीन के बीजों का संयुक्त उपयोग है, जिसे राउंडअप रेडी बीज के रूप में जाना जाता है।

राउंडअप एक ग्लाइफोसेट-आधारित हर्बिसाइड है जो अपने रास्ते में आने वाली हर चीज को मार देता है। राउंडअप रेडी बीजों को ग्लाइफोसेट हर्बिसाइड के प्रतिरोधी होने के लिए संशोधित किया जाता है, ताकि वे खरपतवार या अन्य पौधों द्वारा बिना किसी बाधा के उच्च पैदावार में विकसित हो सकें। यानी यह कचरे को खा कर खत्म कर देता है।

गहन खेती के सिद्धांतों को पशु कृषि पर भी लागू किया जा सकता है। उदाहरण के लिए छोटे स्थानों में मवेशियों के बड़े पैमाने पर पालन के लिए आमतौर पर एंटीबायोटिक दवाओं के रोगनिरोधी के administration की आवश्यकता होती है। यह उस पर निर्भर करता है जिससे कि मवेशियों में बीमारी को फैलने से रोका जा सके, जिससे कृषि उत्पादकता बढ़ सके।

संक्षेप में कहें तो गहन खेती भूमि क्षेत्र या किसान की उत्पादकता के विकास में तेजी लाने के लिए रसायनों और अन्य तरीकों पर निर्भर करती है। इसमें प्रत्येक अंतिम वर्ग इंच भूमि का उपयोग किया जाता है, ताकि फसल की पैदावार ज्यादा से ज्यादा की जा सके।

गहन खेती का सार यह है कि यह फसलों की वृद्धि में तेजी लाने और फसल की उपज बढ़ाने के लिए रसायनों और फसलों की अधिक उपज देने वाली किस्मों (HYV) का ज्यादा से ज्यादा उपयोग किया जा सके। इस तरह की खेती से भले ही उत्पादन ज्यादा हो जाए, लेकिन इससे पर्यावरण को बहुत क्षति होती है।

हालांकि सभी गहन खेती को स्थायी रूप से प्रबंधित नहीं किया जाना चाहिए। उदाहरण के लिए मिलेनियम इकोसिस्टम मूल्यांकन का उपयोग यह समझने के लिए किया जा सकता है कि कैसे गहन खेती का उपयोग प्राकृतिक पारिस्थितिक तंत्र को नुकसान पहुँचाए बिना पोषण, सुरक्षा और उपयोग करने के लिए किया जा सकता है। यानी अगर हम मिलेनियम इकोसिस्टम मूल्यांकन का उपयोग करें तो इससे होने वाले नुकसान की कम किया जा सकता है।

गहन खेती के फायदे

अब हम जान चुके हैं कि गहन खेती क्या है (Gahan kheti kya hai)? लेकिन अब हमारे लिए इसके फ़ायदों और नुकसान के बारे में भी जानना जरूरी है। सबसे पहले हम शुरुआत करते हैं, कि आखिर इसके फायदे क्या है?

उच्च फसल उत्पादन

गहन खेती का सबसे बड़ा फायदा कम भूमि से उच्च फसल उत्पादन है। मांस, अंडे, दूध, मछली और अनाज जैसे कृषि उत्पादों की दुनिया के खाद्य बाजारों जैसे रेस्तरां और सुपरमार्केट में अत्यधिक मांग है। बाजार की मांगों को पूरा करना केवल गहन खेती के माध्यम से ही प्राप्त किया जा सकता है क्योंकि इसमें भूमि के एक छोटे से टुकड़े पर बड़ी मात्रा में उपज का उत्पादन किया जाता है।

अधिक क़िस्मों का उत्पादन

चूंकि गहन खेती मुख्य रूप से बड़े पैमाने पर खाद्य उत्पादन जैसे विशिष्ट खाद्य फसल या पशु उत्पादन पर केंद्रित है। यह मानव उपभोग के लिए अधिक विविधता वाले भोजन पैदा करने वाली खेती है। गहन खेती के लिए बहुत अधिक श्रम, पूंजी और संसाधनों की आवश्यकता होती है, इस कारण इससे अधिक प्रकार की क़िस्मों का उत्पादन किया जा सकता है।

तदनुसार, अलग-अलग किसानों द्वारा अलग-अलग गहन फल उत्पादन और गहन सब्जी उत्पादन, जैसे प्याज, गोभी, गाजर, टमाटर आदि जैसे कई विकल्पों में से किसी एक पर खेती करना। इसके अलावा किसी एक पर गहन पशुधन खेती जैसे मुर्गी पालन, गोमांस, बकरी, खरगोश, सुअर आदि और गहन जलीय कृषि करना। यानी अलग-अलग किसान अलग-अलग प्रकार की खेती करते हैं, जिससे अधिक प्रकार के भोजन का उत्पादन किया जा सकता है।

यह अधिक कारगर है

चूंकि गहन खेती या गहन कृषि में कम भूमि का उपयोग कर अधिक खाद्यान का उत्पादन किया जाता है, इस कारण से यह दूसरी खेती की तुलना में अत्यधिक कारगर है। किसान पारंपरिक खेती के तरीकों के विपरीत भूमि के एक छोटे से टुकड़े पर अधिक पैदावार कर अपनी कमाई को बढ़ा सकता है। इसके विपरीत पारंपरिक खेती में भूमि के एक बड़े हिस्से की आवश्यकता होती है, कम उपज/खाद्य उपज का उत्पादन होता है।

भोजन की कम कीमत

पारंपरिक खेती के विपरीत सब्जियों, मुर्गी पालन, दूध, अंडे और फलों के उत्पादन के लिए गहन खेती के रोजगार ने खाद्य कीमतों को कम कर दिया है। इसका कारण यह है कि सघन खेती के लिए कम जगह की आवश्यकता होती है और इससे अधिक उत्पादन होता है। इसके अतिरिक्त इसने दुनिया में भूख की समस्या को हल करने में काफी मदद की है। इसलिए आम लोग पौष्टिक और संतुलित आहार का आनंद उठा सकते हैं।

विनियमित खेती करने में लाभ

चूंकि गहन खेती से पर्यावरण को नुकसान होता है, इस कारण गहन खेती के संभावित प्रतिकूल प्रभावों की निगरानी और नियंत्रण के लिए विभिन्न कृषि संस्थानों और पर्यावरण संरक्षण एजेंसियों ने एक नई पहल की है। नतीजतन एजेंसियों और कृषि अनुसंधान संस्थानों ने उर्वरकों, कीटनाशकों, वृद्धि हार्मोन, जड़ी-बूटियों जैसे कृषि आदानों के उपयोग पर कुछ नियम और विनियम निर्धारित किए हैं।

साथ ही पशुधन को बनाए रखने और प्रबंधित करने के बारे में स्पष्ट उपाय भी बताए हैं। यह विनियमित खेती सुनिश्चित करता है जिसके परिणामस्वरूप स्वस्थ, सुरक्षित और सस्ती कृषि उपज होती है। इस तरह से गहन खेती विनयमित खेती करने में अत्यधिक लाभदायक है।

दुनिया में भोजन की आपूर्ति

गहन खेती ने दुनिया में लगातार स्वस्थ और पौष्टिक भोजन की मांग को कम किया है। मानव आबादी की लगातार बढ़ती संख्या के कारण दुनिया भर में भोजन की मांग बढ़ी है। गहन खेती खाद्य बाजार की मांगों को पूरा करने की संभावना के साथ उच्च फसल उत्पादकता का लाभ प्रदान करती है।

इसके अलावा इसके लिए कम मात्रा में भूमि की आवश्यकता होती है। जिसका अर्थ है कि यह खाद्य आपूर्ति की लगातार बढ़ती मांग को पूरा करने में महत्वपूर्ण योगदान देता है। जिस कारण किसी भी देश की अर्थव्यवस्था को सुचारु रूप से चलने में सहायता मिलती है।

निष्कर्ष

तो दोस्तों आज का हमारा आर्टिक्ल gahan kheti kya hai (गहन खेती क्या है)? कैसा लगा। अगर आपको gahan kheti kya hai? आर्टिक्ल में किसी अन्य प्रकार की जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट कर बता सकते हैं। साथ ही आप अपना feedback देना न भूलें।

अगर आप भी ऐसे किसान हैं जिनके पास कृषि योग्य कम भूमि है, तो गहन खेती आपके लिए फायदे का सौदा साबित हो सकती है। gahan kheti kya hai? लेख में हमने आपको इससे जुड़े काफी फायदे बताएं है। साथ ही आपको अच्छे से समझ आ गया होगा कि आखिर गहन खेती होती क्या है?

इसके साथ ही दोस्तों gahan kheti kya hai (गहन खेती क्या है)? में आपको गन्ने की खेती कैसे करें? का लिंक दिया गया है। आप उस लिंक की मदद से गन्ने की खेती के बारे में जान सकते हैं।


Only Knowledge

The Knowledge Darshan ब्लॉग आप सभी की मदद के लिए बनाया गया है। इस ब्लॉग पर आपको हम नई से नई जानकारी देने का प्रयास करते है जो आपको और जगह दूसरी भाषा में मिलती है। हमारी पूरी टीम हर एक आर्टिक्ल के लिए कड़ी मेहनत करती है। पूरी रिसर्च और आंकड़ों के साथ हम किसी भी जानकारी को आप तक पहुंचाते है। अब हमें आपके प्यार और आशीर्वाद की आवश्यकता है ताकि हम अपना काम पूरे जोश और मेहनत से कर सकें। हमारे साथ जुड़े रहने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published.